मध्यप्रदेश का राजकीय पक्षी क्या है?

सभी प्रदेशों का कोई ना कोई राजकीय चिन्ह या राजकीय पशु, पक्षी, नृत्य, पेड़ आदि होते हैं। उसकी प्रकार मध्यप्रदेश का भी एक राजकीय पक्षी है। मध्यप्रदेश के इस राजकीय पक्षी का नाम दूधराज हैं। दूधराज को और भी कई नाम से जाना जाता है। इसे शाहबुलबुल, महारानी हुसैनी बुलबुल और टिटैनी के नाम से जाना जाता है। दूधराज पक्षी को अंग्रेजी में पैराडाइज फ्लाईकैचर (Paradise Flycatcher) के नाम से जाना जाता है।

दूधराज को मध्यप्रदेश का राजकीय पक्षी 1 नवंबर 2000 छत्तीसगढ़ के अलग होने के बाद पुनर्गठन के समय ही बनाया गया था। यह पक्षी एक माध्यम आकार का पक्षी है जो की मुख्यतः तीन रंगों में पाया जाता है, इसमें एक रंग दूधिया सफ़ेद, काले और लाल भूरे रंग के होते हैं। दूधराज पक्षी मध्यप्रदेश के अलावा अन्य राज्य जैसे हिमाचल प्रदेश, कश्मीर, पंजाब, बिहार और राजस्थान में पाया जाता है।

अपने राजकीय पक्षी के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने बहुत सारे संरक्षित क्षेत्रों को बनाया है। मध्य प्रदेश का राष्ट्रीय पक्षी दूधराज घने पत्तों वाले पेड़ों के नीचे बैठकर पेड़ पर रहने वाले छोटे-छोटे कीट पतंगों को खाता है। 

दूधराज – Paradise Flycatcher  Hindi

जैसे कि हमने ऊपर जाना है की दूधराज पक्षी एक माध्यम आकार का होता हैं इसकी लम्बाई 18 सेंटीमीटर से 21 सेंटीमीटर तक हो सकती है। इस पक्षी का आकार छोटा होने के कारण इसका वजन 12 ग्राम से 23 ग्राम तक हो सकता है। दूधराज पक्षी के मुँह के अंदर का भाग एक चमकीले रंग का होता है।

इस पक्षी में पाईं जाने वाली लंबी पूंछ इस पक्षी के लिंग निर्धारण करने में मदद करती हैं कि यह नर पक्षी है या मादा पक्षी। क्योंकि नर पक्षी की पूंछ अधिक लंबी होती है। भारतीय नर पैराडाइज फ्लाईकैचर की लम्बाई 412 मिमी होती है। पर ध्यान रखें की यह अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग हो सकती है।

यह भी पढ़ें – 

यदि आप सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहें और आपको हमारे द्वारा दी गई पसंद आयी है तो आप इस प्रकार की और अधिक जानकारी के लिए हमारे Facebook के पेज को Like और हमें Twitter पर फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment