कंप्यूटर के प्रकार – Computer Ke Prakar

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है? यदि आपके मन में भी यह प्रश्न है और Computer Ke Prakar को जानना चाहते है तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको Type of computer in Hindi यानि कंप्यूटर के सभी प्रकार के बारे में जानकारी देंगे। आइये इसे जानने से पहले Computer के बारे में बेसिक जानकारी जानते हैं।

Computer क्या है – What is computer in Hindi

सरल शब्दों में कहा जाये तो कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक यंत्र है जो दिए गए निर्देशों के अनुसार कार्य को पूरा करता है। इसे हिंदी में संगणक, अभिकलक या अभिकलित्र भी कहा जाता है। Computer को हमारे कार्यों को आसान बनाने और जल्दी करने के लिए बनाया गया है जिससे हमारे समय की बचत हो सके। Computer शब्द Latin के शब्द “computare” से लिया गया है, जिसका अर्थ है Calculation करना या गणना करना होता है।

कंप्यूटर के कार्य

जो कार्य मनुष्य कई दिनों में करता है कंप्यूटर उस कार्य को केवल कुछ मिनट में कर सकता है। कंप्यूटर का आतंरिक कार्य तीन प्रकार से होता हैं

  • पहला यूजर के द्वारा डाटा को लेना जिसे हम Input कहते है। इनपुट डाटा के लिए कीबोर्ड, माउस, स्केनर माइक आदि इनपुट डिवाइस का उपयोग किया जाता है।
  • कंप्यूटर का दूसरा काम यूजर से लिए गए डाटा को प्रोसेस करना का होता है।
  • इसका तीसरा काम प्रोसेस के बाद उस processed डाटा को दिखाने का होता है जिसे हम Output कहते हैं। आउटपुट डिवाइस मॉनिटर, प्रिंटर, स्पीकर आदि है।

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया?

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया?

आधुनिक कंप्यूटर आविष्कार चार्ल्स बैबेज (Charles Babbage) ने किया था, इसलिए चार्ल्स बैबेज को आधुनिक कंप्यूटर विज्ञान का जनक या फादर ऑफ कंप्यूटर कहा जाता हैं।

Computer का फुल फॉर्म क्या है

कंप्यूटर फुल फॉर्म क्या होता है यदि आपके मन में भी यह प्रश्न है तो आइये इसे निम्न तरीके से समझते हैं। COMPUTER शब्द आठ अक्षरों से मिलकर बना है जिसमे सभी अक्षरों का अर्थ अलग-अलग है।

  • C – Commonly
  • O – Operated
  • M – Machine
  • P – Particularly
  • U – Used for
  • T – Technical and
  • E – Educational
  • R – Research

कंप्यूटर जनरेशन हिंदी में

आइये कंप्यूटर के इतिहास में कंप्यूटर की जनरेशन को विस्तार से जानते हैं और समझते है कि किस प्रकार से कंप्यूटर का पीढ़ी दर पीढ़ी विकास (Development) हुआ है और इसमें समय के साथ क्या-क्या परिवर्तन हुए है।

जनरेशन वर्ष मेमोरी हार्डवेयर विशेषता दोष/गुण
पहली पीढ़ी 1942 से 1955 पंचकार्ड, पेपर टेप वैक्यूम ट्यूब विद्युत और यांत्रिक मशीन बड़ा आकार, अधिक ऊर्जा खपत, त्रुटियों की संभावना
दूसरी पीढ़ी 1956 से 1964 चुंबकीय मेमोरी, मैग्नेटिक टेप और डिस्क ट्रांजिस्टर मेमोरी और प्रोसेसिंग क्षमता में वृद्धि पहले से छोटा और तेज
तीसरी पीढ़ी 1965 से 1975 चुंबकीय मेमोरी में वृद्धि इंटीग्रेटेड सर्किट, SSL, MSI कीबोर्ड और मॉनिटर का प्रयोग पहले से छोटा और सस्ता, उपयोग में आसान
चौथी पीढ़ी 1976 से 1989 सेमीकंडक्टर मेमोरी माइक्रोप्रोसेसर, VLSI एक साथ कई कार्य करने की क्षमता तीव्र और उच्च क्षमता युक्त
पांचवीं पीढ़ी 1900 से अब तक ऑप्टिकल डिस्क, वर्चुअल मेमोरी आर्टिफिशियलइन इंटेलिजेंस, ULSI, SLSI फ्लग एंड प्ले अति छोटे और अति तीव्र

कंप्यूटर के प्रकार – Types of Computer in Hindi


कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है आइये इसे निम्न बिन्दुओं के आधार पर जानते है-

  1. डेस्कटॉप (Desktop)
  2. लैपटॉप (Laptop)
  3. टेबलेट (Tablet)
  4. सर्वर (Servers)

कार्य के आधार पर कंप्यूटर के प्रकार

कार्य के आधार पर निम्न प्रकार के कंप्यूटर होता हैं-

  1. एनालॉग कंप्यूटर (Analog computer)
  2. डिजिटल कंप्यूटर (Digital computer)
  3. मिनी कंप्यूटर ( Mini computer)
  4. हाइब्रिड कंप्यूटर (Hybrid computer)
  5. मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe computer)
  6. माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer)
  7. सुपर कंप्यूटर (Super computer)

यह भी पढ़ें – 

यदि आप सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहें और आपको हमारे द्वारा दी गई पसंद आयी है तो आप इस प्रकार की और अधिक जानकारी के लिए हमारे Facebook के पेज को Like और हमें Twitter पर फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment